Friday, March 27, 2009

इकानामी

लगा ये चान्दनी हमको जरा धुंधली लगी होने
तो पूछा चन्द्रमा क्या रोशनी अपनी लगा खोने
बताया बीस प्रतिशत की कटौती चल रही है अब
इकानामी का थोड़ा सा असर उस पर लगा होने

-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०

पहले बोले बचत कीजिये, बिना बचत के पार नहीं है
अब कहते हैं खर्च कीजिये , बिना खर्च उद्धार नहीं है
हमने सोचा खर्चा तो हम कर लें, पर बिल भी आयेंगे
क्रेडिट कार्ड इश्युअर अपना कोई रिश्तेदार नहीं है

-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-

मेरा महबूब अब मुझसे यहाँ मिलने नहीं आता
बिचारा फोन पर ही अब मुहब्बत की गज़ल गाता
जो पूछा माजरा क्या है,तो हो मायूस वो बोला
मैं अपनी कार में पेट्रोल बिलकुल भर नहीं पाता

-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०-०

6 comments:

नटवर सिंह राठौड़ said...

नववर्ष (श्री विक्रमादित्य संवत २०६५) की हार्दिकतम शुभकामनायें।
यह नववर्ष आप तथा आपके परिवार के लिये सौभाग्यदायक, मंगलकारक, धन-धान्य वर्धक, सुखकारक हो तथा सभी प्रकार के दुःख और रोगों से मुक्त रखे।

"अर्श" said...

NAMASKAAR,

ECONOMY KAA ASAR CHANDNI PE HONE LAGI .. WAAH KITNI BAARIK BAAT SE AWGAT KARAYAA AAPNE... AAPKE SUKSHMDARSHITA KE KYA KAHANE...

ARSH

mamta said...

सभी एक से बढ़कर एक ।

क्या जमाना आ गया है कि अब चंद्रमा की चांदनी पर भी इकानामी का असर पड़ गया । :)

Shiv Kumar Mishra said...

बहुत शानदार!

लेकिन पोस्ट 'इकॉनोमिकल' है. कम से कम चार और चाहिए थे. लेकिन ठीक है...मंदी में जो मिल जाए.

Anonymous said...

:)

Shardula said...

Have you recently read Alibaba and 20 thieves?
What!! Are you thinking 40 not 20, sorry its 20 now, recessionary measure!! Workforce cut to half!!